Dooriyan Lyrics in Hindi (2019) » Lyrics Masti
Latest Bollywood Songs Lyrics

Dooriyan – Dino James

Print Friendly, PDF & Email

Dooriyan Dino James

Song Title: Dooriyan
Composed, Written & Performed by Dino James
Co Singer: Kaprila
Music Produced by Yash Tiwari
Recording Engineer: Sanjay

Dooriyan Lyrics Video

Video Source : Dino James

DOORIYAN LYRICS IN HINDI

धीरे धीरे से काट रही है
मुझे बाँट रही है
तुझसे ये दूरियाँ
ये बता दे क्या प्यार नहीं था
खुद्दार कहीं का
तुझे दिल क्यूँ दिया

आगे का रास्ता ख़राब था
ये लगा था बड़ा बोर्ड
मैंने बस ये सोचा
होगा छोटा मोटा मोड़
हुआ जब ये हादसा और आया मुझे होश
तब जाके जाना बस यहीं तक थी रोड
माना मेरी ग़लती थी मेरी थी सारी चूक
पर तेरी भी जब होती थी मुझसे देती थी लुक्स
मैंने चाहा जब जाना मुझे कहा नहीं क्यूँ रुक
कुछ कहना था पर तूने कर दिया शससस..

तू है बनी वजह मेरी सिसकियों की
और मैं हूँ बेटा कारण तेरी हिचकियों की
तूने भी तो पल वो सारे मिस किए होंगे
पता नहीं था खेल ये इतने रिस्की होंगे

तुझे याद भी नहीं आती मेरी देट्स ए लिटल रूड
तू साथ नहीं मेरे मुझे अब भी लगे झूट
क्यूँ छटती नहीं है साली काली सी घाटा
नजाने कब निकलेगी धूप

धीरे धीरे से काट रही है
मुझे बाँट रही है
तुझसे ये दूरियाँ
ये बता दे क्या प्यार नहीं था
खुद्दार कहीं का
तुझे दिल क्यूँ दिया

इट्स फ़नी कैसे चेंज हो रहे हैं
आपस में सारे रिश्ते
पहले हग ओर किस थे
बट नाउ इट्स ऑल ट्विस्टटेड
हमेशा दिया रेस्पेक्ट
ना कभी किया मिस्बिहेव
फिर भी तुझसे कह रहा हूँ
फ़र्गिव मी ऑल माई मिस्टेक

देखना तो कैसे हो गया है तेरा डी
बस फ़ेक झूट बोलुं तूने किया मुझे चीट
बाक़ी इक बात तो है के खोके हो गया हूँ डीप
अब वेट करूँ तुझ तक पहुँचे मेरे गीत
मेरे फ़ेस पे लिखा है इमोशनली हूँ वीक
मेरा मेक है के खो देता हूँ जो होता अज़ीज़
साले वेस्ट हो गए हैं सारे डेट्स
अब जैसे मेरे चेस्ट पे किसिने आके रख दी हो ईंट

दूर से ही इक दूजे को हम करते हैं हाई
अब भी तुझपे मरता हूँ
आइ डोनट नो बेबी वाई
अजीव सा लगे वेन आइ सी यू विथ सम गाई
कोई आके दे दे मुझे कोई उपाय

धीरे धीरे से काट रही है
मुझे बाँट रही है
तुझसे ये दूरियाँ
ये बता दे क्या प्यार नहीं था
खुद्दार कहीं का
तुझे दिल क्यूँ दिया

जितना मैं तुझको भूलना चाहूँ
उतना रहे मेरे पास
जाने मैं कब से जूझ रहा हूँ
समझे ना इतनी सी बात

धीरे धीरे से काट रही है
मुझे बाँट रही है
तुझसे ये दूरियाँ
ये बता दे क्या प्यार नहीं था
खुद्दार कहीं का
तुझे दिल क्यूँ दिया

About the author

Anup & Dheeraj

Leave a Comment