Hotel Mumbai 2019 Latest Bollywood Songs Lyrics

Humein Bharat Kahte Hain | Hotel Mumbai

Print Friendly, PDF & Email
Humein bharat kahte hain

Humein Bharat Kahte Hain song lyrics in Hindi The song is from movie Hotel Mumbai (2019), sung and Composed by B Praak & Sunidhi Chauhan

Hume bharat Kehte Hain – Hotel Mumbai | Dev Patel | Anupam kher| Mithoon|Ft. B Praak & Sunidhi

Song Title (गाना टाइटल )Hume Bharat Kehte hain (हमे भारत कहते हैं )
Movie (फिल्म) Hotel Mumbai 2019 (होटल मुंबई २०१९)
Singer (गायक)Stebin Ben (स्तेबिन बिन)
Music (म्यूजिक) Sunny Inder (सनी इन्दर)
Lyrics (लिरिक्स) Kumaar (कुमार)
Director (डायरेक्टर) Anthony Maras अन्थोनी मार्स
Casting (कास्टिंग)

Dev Patel, Armie Hammer, Nazanin Boniadi, Tilda Cobham-Hervey, Anupam Kher, Jason Isaacs, Nagesh Bhosle

(देव पटेल, आर्मी हैमर, नाज़नीन बोनिअदी, अनुपम खेर, नागेश भोसले )

Music Label (म्यूजिक लेबल) Zee Music Company (जी म्यूजिक कंपनी)
Language (भाषा) Hindi & English (हिन्दी & अंग्रेजी)

Humein Bharat Kehte Hain Lyrics Video

Video Source : Zee Music Company ( जी म्यूजिक कंपनी)

Humein Bharat Kahte Hain Lyrics in Hindi

हमें भारत कहते हैं लिरिक्स [हिन्दी]

मेहमान तो रब के जैसे हैं
वो चले तो सास बिछाते हैं
ए लहू में रंग कुर्बानी का
जा देके जान बचाते हैं

अपना पराया हम न देखे
कभी भी अपना गम न देके
दुसरे के दर्द में खड़े रहते हैं

हमे भारत कहते हैं
हमे भारत कहते हैं
हमे भारत कहते हैं
हमे भारत कहते हैं

यह मिटटी कुछ ऐसे हैं जख्मो पे मरहम जैसे हैं
इंसानियत की हवाओं में हम बहते हैं

हमे भारत कहते हैं
हमे भारत कहते हैं
हमे भारत कहते हैं
हमे भारत कहते हैं

तिलक जो माथे पे
लगाया इस मिटटी का तो
रंग बसंती छाए
तुमने जो माँगा दिल
सीने से निकाल के
जान देने चले आये

हमे भारत कहते हैं
हमे भारत कहते हैं
हमे भारत कहते हैं
हमे भारत कहते हैं

Humein Bharat kahte hain Lyrics in English

Hume bharat Kahte hain English Lyrics From Hotel Mumbai

Mehman to Rab ke jaisa hai
Wo chale to sans bichate hain
Hai lahu mein rang qurbani ka
Jaa dekar jaan bachate hain

Apna paraya hum na dekhein
Kabbi bhi apna gam na dekhein
Dusro ke dard me khade rahte hai

Humein bharat kahte hain

Koi roye to ansu churake
Ankho me hasin bhar dete hain
Mushkil me rahke dusro ka
Aasaan safar kar dete hai

Ye mitti hi kuch aisi hai
Zakhmo pe marham jaisi hai
Insaniyat ki hawao me hum bahte hai

Humein bharat kahte hain…….

Tilak jo maathe pe
lagaaya is mitti ka to
rang basanti chhaye
tumne jo maanga dil
seene se nikaaaal ke
jaan dene chale aaye

Humein bharat kahte hain
Humein bharat kahte hain
Humein bharat kahte hain
Humein bharat kahte hain

About the author

Anup & Dheeraj

Leave a Comment